अलग–अलग यूआरएल

इस कॉन्फ़िगरेशन में, हर डेस्कटॉप यूआरएल के लिए उसी के जैसा एक अलग यूआरएल होता है जो मोबाइल के लिए सही सामग्री दिखाता है.

एक सामान्य सेटअप ऐसा होगा जिसमें www.example.com पर डेस्कटॉप उपयोगकर्ताओं को पेज दिखाए जाएंगे और वही पेज m.example.com पर मोबाइल उपयोगकर्ताओं को दिखाए जाएंगे. जब तक सभी यूआरएल सभी Googlebot उपयोगकर्ता-एजेंट के लिए एक्सेस करने लायक होते हैं, तब तक Google किसी भी खास यूआरएल फ़ॉर्मेट का इस्तेमाल करने की सलाह नहीं देता है.

अलग–अलग मोबाइल यूआरएल डेस्कटॉप और मोबाइल डिवाइस पर (और शायद टैबलेट पर भी) अलग–अलग कोड दिखाते हैं. साथ ही ये अलग–अलग यूआरएल पर भी अलग-अलग कोड दिखाते हैं.

थोड़े में कहा जाए तो...

  • rel="canonical" और rel="alternate" एलिमेंट वाले <link> टैग के ज़रिए दो यूआरएल के बीच संबंध का संकेत दें.

  • उपयोगकर्ता–एजेंट स्ट्रिंग का पता लगाएं और उन्हें सही तरीके से रीडायरेक्ट करें.

डेस्कटॉप और मोबाइल यूआरएल के लिए व्याख्या

अलग–अलग यूआरएल को समझने में हमारे एल्गोरिद्म की मदद करने के लिए, हम नीचे दी गई व्याख्याओं का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं:

  1. डेस्कटॉप पेज पर, एक खास लिंक rel=”alternate” टैग जोड़ें जो उससे जुड़े मोबाइल यूआरएल पर ले जाता हो. इससे Googlebot को आपकी साइट के मोबाइल पेज की जगह का पता लगाने में मदद मिलती है.
  2. मोबाइल पेज पर, एक खास लिंक rel=”canonical” टैग जोड़ें जो उससे जुड़े डेस्कटॉप यूआरएल पर ले जाता हो.

हम इस व्याख्या के लिए दो तरीकों का इस्तेमाल करने की सुविधा देते हैं: पेज के HTML में और साइटमैप में. उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि डेस्कटॉप यूआरएल http://example.com/page-1 है और उससे जुड़ा मोबाइल यूआरएल http://m.example.com/page-1 है. इस उदाहरण में व्याख्याएं इस तरह होंगी.

HTML में व्याख्याएं

डेस्कटॉप पेज (http://www.example.com/page-1) पर, यह जोड़ें:

<link rel="alternate" media="only screen and (max-width: 640px)"
 href="http://m.example.com/page-1">

और मोबाइल पेज पर (http://m.example.com/page-1), ज़रूरी व्याख्या यह होनी चाहिए:

<link rel="canonical" href="http://www.example.com/page-1">

मोबाइल यूआरएल पर, डेस्कटॉप पेज पर ले जाने वाला यह rel="canonical" टैग डालना ज़रूरी है.

साइटमैप में व्याख्याएं

हम साइटमैप में डेस्कटॉप पेज के लिए इस तरह से rel=”alternate” व्याख्या शामिल करने की सुविधा देते हैं:

<?xml version="1.0" encoding="UTF-8"?>
<urlset xmlns="http://www.sitemaps.org/schemas/sitemap/0.9"
xmlns:xhtml="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<url>
<loc>http://www.example.com/page-1/</loc>
<xhtml:link
rel="alternate"
media="only screen and (max-width: 640px)"
href="http://m.example.com/page-1" />
</url>
</urlset>

मोबाइल यूआरएल पर ज़रूरी rel="canonical" टैग अभी भी मोबाइल पेज के HTML में जोड़ा जाना चाहिए.

व्याख्या की जानकारी

डेस्कटॉप पेज पर लिंक टैग की विशेषताओं पर ध्यान दें:

  • rel=”alternate” विशेषता से पता चलता है कि यह टैग डेस्कटॉप पेज का वैकल्पिक यूआरएल तय करता है.
  • मीडिया विशेषता का मान एक CSS मीडिया क्वेरी स्ट्रिंग है जो इस बात की जानकारी देने वाली मीडिया सुविधाओं के बारे में बताती है कि Google को वैकल्पिक यूआरएल का इस्तेमाल कब करना चाहिए. इस मामले में, हम एक ऐसी मीडिया क्वेरी का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसका इस्तेमाल आम तौर पर मोबाइल डिवाइस को टारगेट करने के लिए किया जाता है.
  • href विशेषता वैकल्पिक यूआरएल की जगह बताती है, जैसे m.example.com पर मौजूद पेज.

इस दोनों तरफ़ की (“दोतरफ़ा”) व्याख्या से Googlebot को आपकी सामग्री खोजने में मदद मिलती है. साथ ही, इससे हमारे एल्गोरिद्म को आपके डेस्कटॉप और मोबाइल पेज के बीच संबंध समझने और उसके अनुसार उन्हें दिखाने में मदद मिलती है. अगर आप एक ही सामग्री को अलग–अलग फ़ॉर्मेट में दिखाने के लिए अलग–अलग यूआरएल का इस्तेमाल करते हैं, तो व्याख्या से Google के एल्गोरिद्म को पता चलता है कि उन दो यूआरएल में एक जैसी सामग्री है और उन्हें दो इकाइयां मानने के बजाय एक इकाई माना जाना चाहिए. अगर पेज के डेस्कटॉप और मोबाइल वर्शन को अलग–अलग इकाइयां माना जाता है, तो डेस्कटॉप और मोबाइल, दोनों यूआरएल डेस्कटॉप के खोज नतीजों में दिखाए जा सकते हैं. इससे उनकी रैंकिंग, उस रैंकिंग से कम होगी जो Google को उनके संबंध की जानकारी होने पर होती. इसके अलावा, कृपया इस कॉन्फ़िगरेशन में होने वाली कुछ सामान्य गलतियों पर ध्यान दें:

  • rel=”alternate” और rel=”canonical” मार्कअप का इस्तेमाल करते समय, मोबाइल पेज और उससे जुड़े डेस्कटॉप पेज के बीच 'एक के लिए एक' का अनुपात बनाकर रखें. खास तौर पर, एक ही मोबाइल पेज पर ले जाने वाले कई डेस्कटॉप पेज की व्याख्या करने (या इसका उल्टा करने) से बचें.
  • अपने रीडायरेक्ट की अच्छी तरह जाँच करें – पक्का करें कि डेस्कटॉप पेज अनजाने में किसी एक, ऐसे मोबाइल पेज पर रीडायरेक्ट तो नहीं होते हैं जो उनसे जुड़ा नहीं है.
अगर आप एक अलग मोबाइल साइट इस्तेमाल करने का विकल्प चुनते हैं, तो सामान्य गलतियों से सावधान रहें, जैसे मोबाइल उपयोगकर्ताओं के लिए गड़बड़ी वाले रीडायरेक्ट कॉन्फ़िगर करना.

अपने आप रीडायरेक्ट करना

जब किसी वेबसाइट को अलग–अलग यूआरएल का इस्तेमाल करके डेस्कटॉप और मोबाइल ब्राउज़र पर दिखाने के लिए कॉन्फ़िगर किया जाता है, तो हो सकता है कि वेबमास्टर उपयोगकर्ताओं को अपने आप उस यूआरएल पर रीडायरेक्ट करना चाहें जिससे उन्हें बेहतर सेवा मिल सके. अगर आपकी वेबसाइट अपने आप रीडायरेक्ट की सुविधा का इस्तेमाल करती है, तो सभी Googlebots कोकिसी सामान्य उपयोगकर्ता-एजेंट की तरह मानें और उन्हें सही तरीके से रीडायरेक्ट करें.

हमारी सुविधाओं के साथ काम करने वाली रीडायरेक्शन तकनीकें

Googlebot नीचे दिए गए दो तरह के रीडायरेक्ट इस्तेमाल करने की सुविधा देता हैं:

  • HTTP रीडायरेक्ट
  • JavaScript रीडायरेक्ट

HTTP रीडायरेक्ट का इस्तेमाल करना

HTTP रीडायरेक्शन का इस्तेमाल आम तौर पर क्लाइंट को खास डिवाइस के लिए बने यूआरएल पर रीडायरेक्ट करने के लिए किया जाता है. आम तौर पर रीडायरेक्शन HTTP अनुरोध हेडर में मौजूद उपयोगकर्ता–एजेंट के आधार पर किया जाता है. रीडायरेक्शन को, पेज के लिंक rel=”alternate” टैग या साइटमैप में दिए गए वैकल्पिक यूआरएल के मुताबिक रखना ज़रूरी होता है.

इस काम के लिए, इस बात से कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि सर्वर HTTP 301 स्थिति कोड से रीडायरेक्ट करता है या 302 कोड से, लेकिन जहां संभव हो 302 का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया जाता है.

JavaScript रीडायरेक्ट

अगर HTTP रीडायरेक्शन इस्तेमाल करना मुश्किल हो, तो आप उपयोगकर्ताओं को उन यूआरएल पर रीडायरेक्ट करने के लिए JavaScript का इस्तेमाल कर सकते हैं जिन पर ले जाने के लिए link rel="alternate" टैग का इस्तेमाल किया गया है. अगर आप इस तकनीक का इस्तेमाल करना चुनते हैं, तो कृपया पहले पेज डाउनलोड करने, फिर रीडायरेक्ट ट्रिगर करने से पहले JavaScript को पार्स करने और लागू करने की वजह से लगने वाले प्रतीक्षा समय को ध्यान में रखें.

JavaScript आधारित रीडायरेक्ट लागू करने के कई तरीके हैं. जैसे कि, आप matchMedia() JavaScript सुविधा का इस्तेमाल करके आपकी साइट के पेज पर लिंक व्याख्या में इस्तेमाल की जाने वाली मीडिया क्वेरी लागू करने के लिए JavaScript का इस्तेमाल कर सकते हैं.

दोतरफ़ा या एकतरफ़ा रीडायरेक्ट

अलग–अलग वेबसाइट की रीडायरेक्शन नीतियां अलग–अलग होती हैं. कुछ वेबसाइट सिर्फ़ ऐसे मोबाइल उपयोगकर्ताओं को मोबाइल पेज पर रीडायरेक्ट करती हैं जो डेस्कटॉप पेज पर विज़िट करते हैं. इसे "एकतरफ़ा" रीडायरेक्ट कहते हैं. कुछ वेबसाइट मोबाइल और डेस्कटॉप दोनों उपयोगकर्ताओं को रीडायरेक्ट करती हैं. ऐसा तब होता है जब वे पहले डेस्कटॉप और फिर मोबाइल साइट पर जाते हैं. इसे "दोतरफ़ा" रीडायरेक्ट कहते हैं.

Googlebot के लिए, हमारी कोई प्राथमिकता नहीं है और हमारा सुझाव है कि वेबमास्टर अपनी रीडायरेक्शन नीति तय करते समय अपने उपयोगकर्ताओं को ध्यान में रखें. सबसे अहम चीज़ सही और एक जैसे रीडायरेक्ट इस्तेमाल करना है, उदाहरण के लिए डेस्कटॉप या मोबाइल साइट पर एक जैसी सामग्री पर रीडायरेक्ट करना. अगर आपका कॉन्फ़िगरेशन गलत है, तो कुछ उपयोगकर्ताओं को आपकी सामग्री दिखाई ही नहीं देगी.

इसके अलावा, हमारा सुझाव हैं कि आप उपयोगकर्ताओं को रीडायरेक्ट नीति को ओवरराइड करने का तरीका बताएं. उदाहरण के लिए, मोबाइल उपयोगकर्ताओं को उनकी पसंद के हिसाब से डेस्कटॉप पेज देखने की सुविधा देना और डेस्कटॉप उपयोगकर्ताओं को मोबाइल पेज देखने की सुविधा देना.

निम्न के बारे में फ़ीडबैक भेजें...