लेख

आपके समाचार, ब्लॉग और खेलकूद से जुड़े लेख वाले पेज में स्ट्रक्चर्ड डेटा जोड़ने से 'Google सर्च' नतीजों में आपका पेज और ज़्यादा दिखाई देने लगता है. बेहतर सुविधाओं की मदद से आपके लेखों को मुख्य समाचार के कैरोसेल, होस्ट कैरोसेल, विज़ुअल खबरों और रिच परिणाम की सुविधाओं (जैसे हेडलाइन और थंबनेल से बड़ी इमेज) के साथ दिखाया जा सकता है. आपके पेज पर अलग-अलग सुविधाएं इस आधार पर दी जाती हैं कि आप पेज को कोड कैसे करते हैं:

  • स्ट्रक्चर्ड डेटा वाला एएमपी: [सुझाया गया] स्ट्रक्चर्ड डेटा वाले एएमपी पेजों को मोबाइल सर्च नतीजों में मुख्य समाचार के कैरोसेल, रिच नतीजों के होस्ट कैरोसेल, विज़ुअल खबरों और रिच परिणामों की सुविधाओं के साथ दिखाया जा सकता है. इन नतीजों में इमेज, पेज का लोगो और दूसरी बेहतरीन खोज नतीजों की सुविधाओं को शामिल किया जा सकता है.
  • स्ट्रक्चर्ड डेटा के साथ बिना एएमपी वाला वेब पेज: बिना एएमपी के लेख वाले पेज जिनमें स्ट्रक्चर्ड डेटा शामिल होता है, उनके रिच परिणामों वाली सुविधाओं के साथ खोज नतीजों में दिखाई देने की संभावना बढ़ जाती है.

उदाहरण

स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करने वाला टूल में लेख से जुड़ी चीज़ के लिए JSON-LD कोड का उदाहरण देखें.

'स्ट्रक्चर्ड डेटा' में वीडियो से जुड़ी चीज़ के लिए JSON-LD कोड का उदाहरण देखें.

लागू करना

स्ट्रक्चर्ड डेटा वाला एएमपी

समाचार लेखों के लिए एएमपी नतीजों का कैरोसेल

स्ट्रक्चर्ड डेटा वाले एएमपी पेज, खोज परिणामों में कहानियों के कैरोसेल में दिखाई दे सकते हैं. स्ट्रक्चर्ड डेटा के बिना, एएमपी पेज 'Google सर्च' परिणामों में सिर्फ़ साधारण नीले लिंक के तौर पर दिखाई दे सकते हैं. खोज परिणामों में मौजूद एएमपी के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए, 'Google सर्च' पर एएमपी के बारे में जानकारी देखें.

स्ट्रक्चर्ड डेटा वाला एएमपी पेज बनाने के लिए:

  1. एएमपी प्रोजेक्ट की खासियतों का पालन करें.
  2. यह पक्का करने के लिए कि Google आपके पेज को क्रॉल कर पाए, पेज के बारे में और दिशानिर्देश का पालन करें.
  3. पेज पर मौजूद लेख या वीडियो के बारे में जानकारी देते हुए स्ट्रक्चर्ड डेटा से जुड़ी चीज़ जोड़ें.
  4. स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करने वाला टूल का इस्तेमाल करके अपने स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करें.

स्ट्रक्चर्ड डेटा के साथ बिना एएमपी वाला पेज

रिच परिणामों की सूची या एक जैसे बिना एएमपी वाले पेज के कैरोसेल में बिना एएमपी वाले पेज रिच परिणामों के तौर पर दिखाए जा सकते हैं. रिच परिणामों में मुख्य समाचार और इमेज को शामिल किया जा सकता है. Google आपके पेज से अपने आप इन सुविधाओं के लिए ज़रूरी जानकारी निकाल सकता है, लेकिन अगर आप पेज पर स्ट्रक्चर्ड डेटा को शामिल करते हैं, तो इससे Google को आपके पेज की सामग्री को अच्छी तरह समझने और रिच या कैरोसेल परिणामों की संभावना बढ़ाने में मदद मिलती है.

बिना एएमपी वाले खोज परिणामों में मुख्य समाचार और इमेज शामिल हो सकती है, जैसा कि यहां दिखाया गया है:

समाचार लेखों के लिए दो बिना एएमपी वाले नतीजे, जिनमें से एक इमेज के साथ है और दूसरा इमेज के बिना. ऐसी "खेलकूद की प्रमुख ख़बरों" के लिए रिच नतीजे जिनमें इमेज और क्लिप के साथ एएमपी पेज दिखाया जाता है.
बिना एएमपी वाले वेब पेज के लिए बिना कैरोसेल वाले दो परिणाम. बिना एएमपी वाले वेब पेज के लिए बिना कैरोसेल वाले परिणाम

आपके बिना एएमपी वाले लेख के पेज पर स्ट्रक्चर्ड डेटा को जोड़ना:

  1. पेज पर किसी लेख या वीडियो के बारे में जानकारी देते हुए उस पर स्ट्रक्चर्ड डेटा वाली चीज़ जोड़ें.
  2. यह पक्का करने के लिए कि Google आपका पेज क्रॉल कर पाए, दिशानिर्देश पढ़ें.
  3. स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करने वाला टूल का इस्तेमाल करके अपने स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करें.

Google आपको पेज का एएमपी वर्शन बनाने का सुझाव देता है, ताकि मोबाइल डिवाइस पर उपयोगकर्ताओं को आपका पेज बेहतर दिखाई दे. मोबाइल डिवाइस पर एएमपी के फ़ायदों के बारे में ज़्यादा पढ़ें.

दिशानिर्देश

स्ट्रक्चर्ड डेटा को 'Google सर्च' के नतीजों में शामिल किया जाए, इसके लिए इन दिशानिर्देशों का पालन करना ज़रूरी है.

तकनीकी दिशानिर्देश

  • अगर आपकी वेबसाइट की सामग्री को इस्तेमाल करने के लिए सदस्यता लेना ज़रूरी है या इस्तेमाल करने वाले को सामग्री एक्सेस करने के लिए रजिस्टर करना ज़रूरी है, तो आपको सदस्यता और paywall की गई सामग्री के लिए स्ट्रक्चर्ड डेटा जोड़ना चाहिए.
  • कई हिस्सों वाली सामग्री के लिए, rel=next और rel=prev का इस्तेमाल करके पेज पर नंबर डालने का सही मार्कअप करने से हमारे एल्गोरिद्म उन लेखों की सीमा की सही ढंग से पहचान कर पाएंगे. साथ ही, यह ज़रूरी है कि यूआरएल के कैननिकल होने की जाँच सही तरीके से की गई हो, जिसमें rel=canonical या तो हर अलग-अलग पेज की ओर या “सभी देखें” पेज की ओर ले जाता हो (कई हिस्सों वाली सीरीज़ के पहले पेज को नहीं). पेज पर नंबर डालने और यूआरएल के कैननिकल होने की जाँच करने के बारे में ज़्यादा जानें.

एएमपी लोगो से जुड़े दिशानिर्देश

नीचे दिए गए दिशानिर्देश सभी एएमपी वाले पेजों के लोगो पर लागू होते हैं, जिसमें एएमपी खबरें शामिल हैं.

  • रास्टर फ़ाइल का इस्तेमाल किया जाना चाहिए, जैसे कि .jpg, .png, या .gif. वेक्टर फ़ाइल, जैसे कि .svg या .eps का इस्तेमाल न करें.
  • ऐनिमेशन का इस्तेमाल न करें.
  • बैकग्राउंड कलर के साथ मौजूद लोगो का ग्राफ़िक्स वाला हिस्सा पढ़ने लायक होना चाहिए.

ये दिशानिर्देश ऐसे लोगो पर लागू होते हैं जिनका इस्तेमाल सामान्य एएमपी पेज के लिए किया जाता है, एएमपी कहानियों के लिए नहीं. एएमपी कहानियों के लिए अलग तरह के लोगो की ज़रूरत होती है.

  • इनका लोगो आयताकार होना चाहिए, वर्गाकार नहीं.
  • लोगो 60x600px आयताकार वाला होना चाहिए, यह 60px ऊंचा (पसंद के मुताबिक) या सटीक तौर पर 600px चौड़ा होना चाहिए. उदाहरण के लिए, 450x45px इस्तेमाल नहीं किया जा सकता, हालांकि यह 600x60px आयताकार में फ़िट बैठता है.

  • प्रकाशकों को हर ब्रैंड के लिए सिर्फ़ एक ऐसे लोगो का इस्तेमाल करना चाहिए, जो कि सभी सामान्य एएमपी पेजों पर एक जैसा हो.
  • वर्डमार्क या पूरे लोगो का इस्तेमाल करें; आइकॉन का नहीं.
  • शब्दों वाले लोगो में लेख ज़्यादा से ज़्यादा 48px ऊंचे होने चाहिए और वे ऊपर से नीचे की ओर ऊंचाई में 60px की इमेज के बीच में होने चाहिए. लोगो की ऊंचाई 60px तक बढ़ाने के लिए लेख और बॉर्डर के बीच कुछ जगह छोड़ें.

  • अच्छे बैकग्राउंड वाले लोगो में ग्राफ़िक्स पर लेख और बॉर्डर के बीच कम से कम 6px की जगह होनी चाहिए.

स्ट्रक्चर्ड डेटा के प्रकार की परिभाषाएं

नीचे दिए गए सेक्शन में लेख और वीडियो के स्ट्रक्चर्ड डेटा के लिए ज़रूरी विशेषताओं के बारे में बताया गया है.

आपकी सामग्री रिच परिणाम के तौर पर दिखाई दे, इसके लिए आपको ज़रूरी विशेषताएं जोड़नी होंगी. अपनी सामग्री के बारे में ज़्यादा जानकारी जोड़ने के लिए, आप सुझाई गई विशेषताएं भी जोड़ सकते हैं. इससे लोगों को आपकी सामग्री ढूंढने और उसका इस्तेमाल करने में आसानी हो सकती है.

लेख वाली चीज़ें

लेख वाली चीज़ें इनमें से किसी एक schema.org प्रकार पर आधारित होनी चाहिए: Article, NewsArticle, BlogPosting.

एएमपी

एएमपी पेजों पर ये विशेषताएं लागू होती हैं.

ज़रूरी प्रॉपर्टी
author

Person या Organization

लेख का लेखक.

author.name Text

लेखक का नाम.

datePublished

DateTime

ISO 8601 फ़ॉर्मैट में पहली बार लेख के प्रकाशित होने की तारीख और समय.

ये तरीके अपनाएं:

  • तारीख समय के साथ बदलनी नहीं चाहिए.
  • हम सुझाव देते हैं कि आप टाइमस्टैम्प में दिन के साथ-साथ घंटों में समय की जानकारी भी दें.
  • dateModified का मान, datePublished के मान के बाद आना चाहिए.
headline Text

लेख की हेडलाइन. हेडलाइन में 110 से ज़्यादा वर्ण नहीं होने चाहिए. एएमपी कहानियों के लिए, दी गई हेडलाइन एएमपी कहानी के पहले कवर पेज में दिए गए लेख से मेल खानी चाहिए.

image

ImageObject या URL का दोहराया गया फ़ील्ड

उस इमेज का यूआरएल जिसमें लेख या एएमपी कहानी के बारे में बताया गया हो.

खोज परिणामों के फ़ॉर्मैट अलग-अलग होने की वजह से, नीचे दिए गए इमेज के दिशानिर्देश, सिर्फ़ सामान्य एएमपी पेज पर लागू होते हैं, एएमपी कहानियों पर नहीं. एएमपी कहानियों में इमेज की अलग तरह की ज़रूरतें होती हैं.

  • सीधे तौर पर लेख से संबंधित सिर्फ़ मार्क-अप वाली इमेज ही इस्तेमाल की जानी चाहिए.
  • इमेज कम से कम 1200 पिक्सेल चौड़ी होनी चाहिए.
  • हर पेज में कम से कम एक इमेज होनी चाहिए (चाहे आप मार्कअप को शामिल करें या न करें). आसपेक्ट रेशियो (चौड़ाई-ऊंचाई का अनुपात) और रिज़ॉल्यूशन के आधार पर, Google खोज नतीजों में दिखाने के लिए सबसे बढ़िया इमेज चुनेगा.
  • इमेज के यूआरएल क्रॉल करने लायक और इंडेक्स करने लायक होने चाहिए.
  • इमेज में मार्कअप की गई सामग्री दिखनी चाहिए.
  • इमेज .jpg, .png या .gif फ़ॉर्मैट में होनी चाहिए.
  • सबसे अच्छे नतीजों के लिए, ज़्यादा रिज़ॉल्यूशन वाली ऐसी कई इमेज (चौड़ाई और ऊंचाई को गुणा करने के बाद कम से कम 800,000 पिक्सेल) उपलब्ध करवाएं, जिनका आसपेक्ट रेशियो या चौड़ाई-ऊंचाई का अनुपात यह हो: 16x9, 4x3 और 1x1.

उदाहरण के लिए:

{
  "@context": "https://schema.org",
  "@type": "NewsArticle",
  "image": [
    "https://example.com/photos/1x1/photo.jpg",
    "https://example.com/photos/4x3/photo.jpg",
    "https://example.com/photos/16x9/photo.jpg"
  ]
}
publisher

Organization

लेख का प्रकाशक.

publisher.logo

ImageObject

प्रकाशक का लोगो. जानकारी के लिए एएमपी लोगो के दिशानिर्देश देखें.

publisher.logo.height

Number

पिक्सेल में लोगो की ऊंचाई.

publisher.logo.url

URL

लोगो का यूआरएल.

publisher.logo.width

Number

पिक्सेल में लोगो की चौड़ाई.

publisher.name Text

प्रकाशक का नाम.

सुझाई गई प्रॉपर्टी
dateModified

DateTime

ISO 8601 फ़ॉर्मैट में वह तारीख और समय जब हाल ही में इस लेख में ज़्यादातर बदलाव किए गए थे.

description Text

कम शब्दों में लेख के बारे में जानकारी.

mainEntityOfPage

URL

लेख वाले पेज का प्रामाणिक यूआरएल. लेख वाले पेज का मुख्य विषय लेख होने पर mainEntityOfPage के बारे में बताएं.

बिना एएमपी वाले पेज

ये विशेषताएं बिना एएमपी वाले पेजों पर लागू होती हैं.

सुझाई गई प्रॉपर्टी
dateModified

DateTime

ISO 8601 फ़ॉर्मैट में वह तारीख और समय जब हाल ही में इस लेख में ज़्यादातर बदलाव किए गए थे.

datePublished

DateTime

ISO 8601 फ़ॉर्मैट में पहली बार लेख के प्रकाशित होने की तारीख और समय.

headline Text

लेख की हेडलाइन. हेडलाइन में 110 से ज़्यादा वर्ण नहीं होने चाहिए.

image

ImageObject या URL का दोहराया गया फ़ील्ड

उस इमेज का यूआरएल जिसमें लेख के बारे में बताया गया हो. सीधे तौर पर लेख से संबंधित सिर्फ़ मार्क-अप वाली इमेज ही इस्तेमाल की जानी चाहिए. इमेज कम से कम 696 पिक्सेल चौड़ी होनी चाहिए.

इमेज के बारे में दूसरे दिशानिर्देश:

  • हर पेज में कम से कम एक इमेज होनी चाहिए (चाहे आप मार्कअप को शामिल करें या न करें). आसपेक्ट रेशियो (चौड़ाई-ऊंचाई का अनुपात) और रिज़ॉल्यूशन के आधार पर, Google खोज नतीजों में दिखाने के लिए सबसे बढ़िया इमेज चुनेगा.
  • इमेज के यूआरएल क्रॉल करने लायक और इंडेक्स करने लायक होने चाहिए.
  • इमेज में मार्कअप की गई सामग्री दिखनी चाहिए.
  • इमेज .jpg, .png या .gif फ़ॉर्मैट में होनी चाहिए.
  • सबसे अच्छे नतीजों के लिए, ज़्यादा रिज़ॉल्यूशन वाली ऐसी कई इमेज (चौड़ाई और ऊंचाई को गुणा करने के बाद कम से कम 300,000 पिक्सेल) उपलब्ध करवाएं, जिनका आसपेक्ट रेशियो या चौड़ाई-ऊंचाई का अनुपात यह हो: 16x9, 4x3 और 1x1.

उदाहरण के लिए:

{
  "@context": "https://schema.org",
  "@type": "NewsArticle",
  "image": [
    "https://example.com/photos/1x1/photo.jpg",
    "https://example.com/photos/4x3/photo.jpg",
    "https://example.com/photos/16x9/photo.jpg"
  ]
}

वीडियो ऑब्जेक्ट

वीडियो ऑब्जेक्ट schema.org प्रकार VideoObject पर आधारित होने चाहिए.

ज़रूरी विशेषताएं
description

Text

वीडियो की जानकारी.

name

Text

वीडियो का शीर्षक.

publisher.logo

ImageObject

प्रकाशक का लोगो. खास तौर पर एएमपी के बारे में जानने के लिए एएमपी के लोगो के लिए दिशा-निर्देश देखें.

publisher.logo.url

URL

लोगो का यूआरएल.

publisher.name

Text

प्रकाशक का नाम.

thumbnailUrl

URL का दोहराया गया फ़ील्ड

वीडियो के थंबनेल की इमेज फ़ाइल का यूआरएल.

इमेज के बारे में दूसरे दिशा-निर्देश:

  • हर पेज में कम से कम एक इमेज होनी चाहिए (चाहे आप मार्कअप को शामिल करें या न करें). आसपेक्ट रेशियो (चौड़ाई-ऊंचाई का अनुपात) और रिज़ॉल्यूशन के आधार पर, Google खोज नतीजों में दिखाने के लिए सबसे अच्छी इमेज चुनेगा.
  • इमेज के यूआरएल क्रॉल करने लायक और इंडेक्स करने लायक होने चाहिए.
  • इमेज में मार्कअप की गई सामग्री दिखनी चाहिए.
  • इमेज .jpg, .png या .gif फ़ॉर्मैट में होनी चाहिए.
  • सबसे अच्छे नतीजों के लिए, ज़्यादा रिज़ॉल्यूशन वाली ऐसी कई इमेज (चौड़ाई और ऊंचाई को गुणा करने के बाद कम से कम 50,000 पिक्सेल) उपलब्ध कराएं जिनका आसपेक्ट रेशियो (चौड़ाई-ऊंचाई का अनुपात) यह हो: 16x9, 4x3 और 1x1.

उदाहरण के लिए:

"image": [
  "https://example.com/photos/1x1/photo.jpg",
  "https://example.com/photos/4x3/photo.jpg",
  "https://example.com/photos/16x9/photo.jpg"
]
सुझाई गई विशेषताएं
contentUrl

URL

वीडियो की मूल मीडिया फ़ाइल का यूआरएल.

वीडियो दिखाने के हमारे सबसे अच्छे तरीके अपनाना न भूलें.

duration

Duration

ISO 8601 फ़ॉर्मैट में वीडियो की अवधि.

embedUrl

URL

किसी खास वीडियो के लिए प्लेयर का यूआरएल. आम तौर पर, यह जानकारी <embed> टैग के src एलिमेंट में होती है.

वीडियो दिखाने के हमारे सबसे अच्छे तरीके अपनाना न भूलें.

expires

Text

अगर लागू होती है, तो ISO 8601 फ़ॉर्मैट में वह तारीख जिसके बाद वीडियो दिखाई देना बंद हो जाएगा. अगर आपका वीडियो हमेशा उपलब्ध रहेगा, तो यह जानकारी न दें.

interactionCount

Text

वह संख्या जितनी बार वीडियो देखा गया है.

निम्न के बारे में फ़ीडबैक भेजें...