अपनी सामग्री के आइटम मार्कअप करें

जब आप सामग्री मार्कअप करने के लिए स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल करते हैं, तो आप 'सर्च' में दिखाने के लिए, इसके संदर्भ को बेहतर ढंग से समझने में Google की मदद करते हैं. साथ ही आप 'सर्च' के ज़रिए इस्तेमाल करने वालों तक अपनी सामग्री बेहतर तरीके से पहुंचा पाते हैं. आप सामग्री की प्रॉपर्टी को मार्कअप करके और ज़रूरत पड़ने पर कार्रवाइयां चालू करके ऐसा करते हैं. ऐसा करने से सामग्री रिच नतीजों में शामिल होने लायक बन जाती है. रिच नतीजों के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए, 'सर्च' सुविधाओं के बारे में जानकारी देखें. कुछ सामग्री प्रकारों के लिए, यह इस्तेमाल करने वालों को सीधे 'सर्च' से आपकी सामग्री तक पहुंचने की सुविधा देता है.

यह मार्कअप, कुछ सामग्री को सूचियों और खास होस्ट वाली सूची की झलक में दिखने की मंज़ूरी देने का पहला चरण है. ज़्यादा जानकारी के लिए अपनी सूचियां मार्कअप करें देखें.

इसे किन सामग्री प्रकारों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है

कई तरह के सामग्री प्रकार रिच नतीजों में दिखाए जा सकते हैं. CreativeWork एक schema.org प्रकार की परिभाषा है जो पढ़ने, देखने, सुनने के लिए बनी सामग्री या दूसरे इस्तेमाल जैसे, समाचार लेख, रेसिपी और वीडियो सामग्री पर लागू होती है. दूसरे सामग्री प्रकार, जैसे उत्पाद और स्थानीय कारोबार की झलक, वाणिज्य श्रेणी से जुड़े हैं. यह एक पसंद के मुताबिक बनाई जाने वाली श्रेणी है जिसका इस्तेमाल हम आम तौर पर खुदरा कामों के लिए बने schema.org प्रकारों की जानकारी देने के लिए करते हैं.

नीचे हर सामग्री प्रकार के लिए इस्तेमाल की जा सकने वाली सुविधाओं की सूची दी गई है.

सामग्री प्रकार उपलब्ध सुविधाएं नोट
लेख

'मुख्य कहानियां' कैरोसेल

रिच नतीजे

'मुख्य कहानियां' कैरोसेल के लिए ज़रूरी है कि आपकी सामग्री एएमपी में प्रकाशित हो. ज़्यादा जानकारी के लिए, स्ट्रक्चर्ड डेटा के साथ एएमपी देखें.
स्थानीय कारोबार स्थानीय कारोबार की झलक
स्थानीय कारोबार स्थान कार्रवाइयां साफ़ ऑप्ट-इन की ज़रूरत होती है. इस कार्यक्रम में हिस्सा लें.
रेसिपी

रिच नतीजे

होस्ट के लिए खास सूचियां

आलोचक की समीक्षा आलोचक समीक्षा कार्ड
वीडियो रिच नतीजे

इस दस्तावेज़ में आगे, मार्कअप इस्तेमाल करने के वो तरीके बताए गए हैं जिनसे इन प्रकारों के लिए सुविधाएं चालू की जाती हैं. मार्कअप की मूल विशेषताएं देखने के लिए, हर तरह की दी गई जानकारी में क्रिएटिव वर्क (लेख से शुरू होने वाले) और कॉमर्स सेक्शन (स्थानीय कारोबार से शुरू होने वाले) देखें.

अपनी सामग्री की प्रॉपर्टी को मार्कअप करें

  1. ऊपर दिए गए टेबल से उस डेटा प्रकार की पहचान करें जो आपकी सामग्री को दिखाता है. फ़िर उस प्रकार के लिए दी गई मार्कअप जानकारी में जाकर उसके लिए ज़रूरी और सुझाई गई प्रॉपर्टी का पता लगाएं.

    आप किसी एक एचटीएमएल या एएमपी एचटीएमएल सामग्री पेज में कई सामग्री प्रकारों के लिए मार्कअप जोड़ सकते हैं. जैसे, आपके समाचार लेख में कोई वीडियो भी हो सकता है, इसलिए आप दोनों तरह के मार्कअप जोड़ सकते हैं ताकि आपका सामग्री पेज 'मुख्य कहानियां' कैरोसेल या वीडियो के रिच नतीजों में दिखाई दे सके. ज़्यादा जानकारी के लिए, Google खोज पर एएमपी के बारे में जानकारी देखें.

  2. मार्कअप का ऐसा ब्लॉक बनाएं जिसमें कम से कम, वे ज़रूरी स्ट्रक्चर्ड डेटा प्रॉपर्टी हों जो 'सर्च' में आपके हिसाब से सामग्री दिखाने के लिए होनी चाहिए.

    हमारा सुझाव है कि 'सर्च' में अपनी सामग्री को बेहतरीन तरीके से दिखाने के लिए, आप सभी उपलब्ध प्रॉपर्टी को भी मार्कअप करें. डेटा-प्रकार की जानकारी में ऐसे मार्कअप के कई उदाहरण दिए हैं जिन्हें आप अपनी पसंद के मुताबिक बना सकते हैं.

    रेसिपी मार्कअप का उदाहरण

  3. इस मार्कअप को उस हर सामग्री पेज में डालें जिसे आप किसी सुविधा में दिखाना चाहते हैं.

    अगर किसी सुविधा के लिए एएमपी एचटीएमएल ज़रूरी है, तो इसका मतलब है कि मार्कअप को सामग्री पेज में रखा जाना चाहिए.

  4. स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करने वाले टूल से अपने मार्कअप की जाँच करें.

    इससे आपको यह पुष्टि करने में मदद मिलती है कि आपका मार्कअप उन सुविधाओं के लिए सही है जिन्हें आप अपनी सामग्री के लिए चालू करना चाहते हैं.

कार्रवाइयां मुहैया कराएं

जब इस्तेमाल करने वाले Google में किसी फ़िल्म या टीवी शो के बारे में जानकारी खोजते हैं, तो वे असल में सामग्री पर कोई कार्रवाई करने में दिलचस्पी दिखा सकते हैं—उदाहरण के लिए, अपने मोबाइल डिवाइस पर फ़िल्म की क्लिप देखने या आपके रेस्टोरेंट में टेबल बुक करना. अगर आपकी साइट या ऐप्लिकेशन पर ऐसी कार्रवाई की जा सकती हैं, तो स्ट्रक्चर्ड डेटा मार्कअप से Google को बताया जा सकता है कि आपकी साइट या ऐप्लिकेशन पर किन चीज़ों के लिए कौनसी कार्रवाई की जा सकती हैं. उसके बाद Google ऐसे इस्तेमाल करने वालों को आपकी साइट या ऐप्लिकेशन पर भेज सकता है.

यह कैसे काम करता है?

ऐसी सामग्री के लिए स्ट्रक्चर्ड डेटा मार्कअप जो मार्कअप की दो बड़ी श्रेणियों से मिलकर बनी कार्रवाइयों को चालू करता है:

  • सामग्री मार्कअप—इसमें सामग्री की जानकारी दी जाती है. इसे उच्च-स्तर वाली प्रॉपर्टी से शुरू किया जाता है और फिर सब-टाइप प्रॉपर्टी के लिए इस्तेमाल किया जाता है. उदाहरण के लिए, सभी टीवी और फ़िल्मों वाली सामग्री में name, URL, और startDate जैसी सामान्य प्रॉपर्टी का इस्तेमाल किया जाता है. इसके अलावा, दूसरी प्रॉपर्टी ज़्यादा जानकारी मुहैया कराती हैं, जैसे टीवी सामग्री किसी एपिसोड, सीरीज़ या सीज़न का हिस्सा है या नहीं.
  • कार्रवाई मार्कअप—कार्रवाई वाली प्रॉपर्टी के बारे में बताता है. इसमें ज़्यादातर सामग्री के लिए ज़रूरी कार्रवाई प्रॉपर्टी की जानकारी दी जाती है. उदाहरण के लिए, सामग्री के साथ की जा सकने वाली WatchAction या OrderAction जैसी कार्रवाई. दूसरी ज़रूरी कार्रवाई प्रॉपर्टी में target कंटेनर के एलिमेंट शामिल होते हैं, उदाहरण के लिए वह प्लैटफ़ॉर्म जिस पर सामग्री का लिंक काम करेगा, जैसे Android या iOS ऐप्लिकेशन. वहां से, आप कार्रवाइयों से जुड़ी ज़्यादा जानकारी दे सकते हैं जैसे कि यह बताना कि कार्रवाई किन हालातों में काम करेगी.

मार्कअप के लिए इस्तेमाल किए जा सकने वाले हर तरह के डेटा प्रकार की जानकारी में सामग्री और उनकी कार्रवाइयों की श्रेणियों के लिए प्रॉपर्टी दी गई होती हैं.

Google इस बात की गारंटी नहीं देता है कि आपका स्ट्रक्चर्ड डेटा सर्च नतीजों में तब भी दिखाई देगा, जब इसे मार्कअप कर दिया गया हो और जाँच करने वाले टूल के मुताबिक उसे निकाला जा सकता हो. यहां इसकी कुछ वजहें बताई गई हैं:

  • स्ट्रक्चर्ड डेटा आपके पेज की मुख्य सामग्री को नहीं दिखाता है या यह गलत जानकारी देने वाला हो सकता है.
  • स्ट्रक्चर्ड डेटा कुछ इस तरह गलत है जिसे जाँच करने वाला टूल नहीं पकड़ पाया.
  • मार्क-अप की गई सामग्री को इस्तेमाल करने वाले से छिपा दिया जाता है.

कार्रवाई मार्कअप बनाएं

कार्रवाई मार्कअप बनाने का सबसे अच्छा तरीका है, अपनी सामग्री के लिए एक खास विशेषता बनाना और उस विशेषता के लिए मार्कअप टेम्प्लेट या फ़्रेमवर्क बनाना. उसके बाद, उस सामग्री के हर इंस्टेंस के लिए अपने टेम्प्लेट में मान डालें और उससे मिलने वाले मार्कअप को एचटीएमएल पेज में डालें. उदाहरण के लिए, आप किसी उपलब्ध फ़िल्म, जैसे http://www.example.com/movies/forrest_gump के लिए अपने लैंडिंग पेज में मार्कअप एम्बेड करेंगे. आगे एक बुनियादी प्रक्रिया बताई गई है जिसके ज़रिए आप कार्रवाई मार्कअप बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं.

  1. अपनी सामग्री के लिए काम की 'सामग्री प्रॉपर्टी' तय करें.

    सबसे पहले, अपने बुनियादी डेटा के प्रकार जैसे, टीवी और फ़िल्म या स्थानीय कारोबार से शुरू करें. उसके बाद, अपनी सामग्री के लिए सही सुविधाएं तय करें, जैसे कि आप सिर्फ़ हर एपिसोड के हिसाब से टीवी सामग्री उपलब्ध करा रहे हैं या किसी सीज़न के लिए सदस्यता की पेशकश कर रहे हैं. अपनी विशेषता के लिए काम की कार्रवाइयां एक साथ जोड़ें.

  2. कार्रवाई के लिए मार्कअप तय करें.

    सभी कार्रवाई प्रकारों में कुछ प्रॉपर्टी ज़रूरी होती हैं, इसलिए आपको उन्हें तय करना होगा. आप हर कार्रवाई (जैसे WatchActions) के टेबल में ज़रूरी कार्रवाइयों की सूची पा सकते हैं. ज़रूरी कार्रवाई प्रॉपर्टी के अलावा, आप उप-श्रेणी प्रॉपर्टी भी डाल सकते हैं जैसे कारोबारों के लिए ReserveAction या OrderAction प्रॉपर्टी.

  3. टारगेट सही ढंग से तय करें.

    टारगेट, potentialAction की बुनियाद है जो ऐसे सभी एलिमेंट और मान तय करती है जिनकी ज़रूरत इस्तेमाल करने वाले के इरादे और आपकी सामग्री की प्रतिक्रिया के बीच कनेक्शन को दिखाने के लिए होती है. urlTemplate के ज़रिए सामग्री के लिए लिंक डालते समय, किसी वेबसाइट या Android या iOS के लिए बने खास ऐप्लिकेशन पर सामग्री के किसी हिस्से के लिए पूरी तरह काम करने वाले यूआरएल का इस्तेमाल करें. potentialAction.target.actionPlatform प्रॉपर्टी का इस्तेमाल करके आपको साफ़ तौर पर उन प्लैटफ़ॉर्म के बारे में भी बताना चाहिए जिन पर हर यूआरएल काम करता है. अपनी ऐप्लिकेशन सामग्री के लिंक डालने, और अपने ऐप्लिकेशन और अपनी साइट की सामग्री के लिए एक जैसे यूआरएल इस्तेमाल करने के लिए, ऐप्लिकेशन सूची पर Firebase दस्तावेज़ देखें.

  4. टेम्प्लेट डिज़ाइन करें.

    अपने सामग्री प्रकार के लिए, उपलब्ध जानकारी दस्तावेज़ में दिए उदाहरणों में से किसी का इस्तेमाल करें. आसान बदलाव और पुष्टि के लिए ये उदाहरण सीधे स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करने वाले टूल में लोड होते हैं.

  5. अपने पेज में मार्कअप डालें.

    एक बार जब आप अपनी साइट की सामग्री में स्ट्रक्चर्ड डेटा जोड़ देंगे, तो Google को अगली बार आपकी साइट प्रोसेस करते समय इसके बारे में पता चल जाएगा (अगर हम आपकी साइट के लिए रिच नतीजे दिखाने का विकल्प चुनते हैं, तो रिच नतीजों (जिन्हें पहले रिच स्निपेट कहते थे) को सर्च नतीजों में दिखाई देने में कुछ समय लग सकता है).

  6. स्ट्रक्चर्ड डेटा की जाँच करने वाले टूल का इस्तेमाल करके अपने मार्कअप की जाँच करें.

    मार्कअप बनाने के दौरान, उसे टूल में चिपकाकर मार्कअप की जाँच करें. पेज प्रकाशित करने के बाद, मार्कअप की दोबारा पुष्टि करने के लिए आप पेज का यूआरएल डाल सकते हैं.

निम्न के बारे में फ़ीडबैक भेजें...