मददगार कॉन्टेंट से जुड़ा Google Search का सिस्टम और आपकी वेबसाइट

मददगार कॉन्टेंट से जुड़े Google Search के सिस्टम में ऐसा सिग्नल जनरेट होता है जिसका इस्तेमाल, हमारे ऑटोमेटेड रैंकिंग सिस्टम करते हैं. इससे यह पक्का करने में मदद मिलती है कि लोगों को खोज के नतीजों में, ओरिजनल और लोगों के लिए बनाया गया मददगार कॉन्टेंट दिखे. यह सिस्टम कैसे काम करता है, इस बारे में इस पेज पर ज़्यादा जानकारी दी गई है. साथ ही, अपने कॉन्टेंट का आकलन करने और उसे बेहतर बनाने के तरीकों के बारे में भी बताया गया है.

मददगार कॉन्टेंट से जुड़ा सिस्टम कैसे काम करता है

मददगार कॉन्टेंट से जुड़े सिस्टम का मकसद, ऐसे कॉन्टेंट को बढ़ावा देना है जिससे लोगों को अच्छा अनुभव मिला. साथ ही, जो कॉन्टेंट लोगों की उम्मीदों के मुताबिक नहीं होता वह बेहतर परफ़ॉर्म नहीं करता है.

यह सिस्टम पूरी साइट के लिए सिग्नल जनरेट करता है. हम Google Search (जिसमें 'डिस्कवर' शामिल है) में, कई अन्य सिग्नल के साथ ही, इस सिग्नल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. यह सिस्टम कम अहमियत वाले कॉन्टेंट की पहचान अपने-आप कर लेता है. इसके अलावा, ऐसे कॉन्टेंट की भी पहचान करता है जिसमें कम जानकारी जोड़ी गई है या जो लोगों के लिए खास फ़ायदेमंद नहीं है.

आपकी साइटों पर मौजूद सिर्फ़ कम उपयोगी कॉन्टेंट ही नहीं, बल्कि कोई भी ऐसा कॉन्टेंट जिसमें ज़्यादातर जानकारी ग़ैर-ज़रूरी है, वह Search पर अच्छा परफ़ॉर्म नहीं कर पाता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि हो सकता है कि वेब पर ऐसा दूसरा कॉन्टेंट मौजूद हो जिसे दिखाने से लोगों को ज़्यादा फ़ायदा मिल सकता हो. इस वजह से, कम उपयोगी कॉन्टेंट को हटाने से आपके दूसरे कॉन्टेंट की रैंकिंग बेहतर होने में मदद मिल सकती है.

डेटा की कैटगरी तय करने वाला यह सिस्टम, पूरी तरह अपने-आप काम करता है. इसके लिए, मशीन लर्निंग मॉडल का इस्तेमाल किया जाता है. यह सिस्टम दुनिया भर में सभी भाषाओं में काम करता है. यह मैन्युअल ऐक्शन या स्पैम वाली कार्रवाई नहीं है. यह उन कई सिग्नल में से एक है जिनका इस्तेमाल Google, कॉन्टेंट की रैंकिंग तय करने के लिए करता है.

इसका मतलब है कि साइटों पर, लोगों की पसंद के हिसाब बनाए गए ऐसे कॉन्टेंट को अच्छी रैंकिंग मिल सकती है जिसे कम उपयोगी के तौर पर मार्क किया गया है. ऐसा तब होता है, जब किसी कॉन्टेंट के लिए ऐसे सिग्नल मौजूद हों जिनसे यह पता चले कि लोगों की पसंद के हिसाब बनाया गया कॉन्टेंट, किसी क्वेरी के हिसाब से उपयोगी और काम का है. सिग्नल की अहमियत भी मायने रखती है; ऐसी साइटों पर ज़्यादा असर पड़ सकता है जिन पर कम उपयोगी कॉन्टेंट ज़्यादा मौजूद है.

अगर आपकी मुख्य साइट या सबडोमेन में तीसरे पक्ष का कॉन्टेंट होस्ट किया जाता है, तो ध्यान रखें कि ऐसा कॉन्टेंट, पूरी साइट के लिए जनरेट किए गए सिग्नल में शामिल किया जा सकता है. जैसे, कॉन्टेंट कितना मददगार है. इस वजह से, अगर मुख्य साइट के मकसद से यह कॉन्टेंट काफ़ी हद तक अलग है या इसे पूरी तरह से निगरानी किए बिना बनाया गया है या इसमें मुख्य साइट को शामिल नहीं किया गया है, तो हमारा सुझाव है कि इसे ब्लॉक किया जाए, ताकि Google इसे इंडेक्स न कर पाए.

इस सिस्टम और मेरी साइट के लिए इस अपडेट का क्या मतलब है?

अगर आपने मददगार कॉन्टेंट बनाया है, तो आपको कुछ करने की ज़रूरत नहीं है; यह सिस्टम आपकी साइट के लिए बेहतर काम कर सकता है, क्योंकि इसे मददगार कॉन्टेंट को बढ़ावा देने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

अगर आपको ट्रैफ़िक में कोई ऐसा बदलाव दिखता है जो इस सिस्टम से जुड़ा हो सकता है (जैसे, सिस्टम पर सार्वजनिक तौर पर पोस्ट किए गए रैंकिंग से जुड़े अपडेट के बाद), तो आपको खुद ही अपने कॉन्टेंट का आकलन करना चाहिए. साथ ही, ऐसा कॉन्टेंट जो मददगार नहीं है उसे ठीक करना चाहिए या हटा देना चाहिए. लोगों के लिए, जानकारी देने वाला और उपयोगी कॉन्टेंट कैसे बनाएं, इस बारे में बताने वाले हमारे सहायता पेज पर कुछ सवाल हैं. इन सवालों के ज़रिए अपने कॉन्टेंट का खुद आकलन किया जा सकता है, ताकि मददगार कॉन्टेंट सिस्टम का बेहतर तरीके से इस्तेमाल किया जा सके.

आम तौर पर, यह एक स्वाभाविक सवाल है कि अगर साइट से कम उपयोगी कॉन्टेंट हटाने पर, उसकी रैंकिग बेहतर होने में कितना समय लगेगा? जिन साइटों की पहचान इस सिस्टम से की गई है उनके लिए, कुछ महीनों में इस सिग्नल को लागू किया जा सकता है. कॉन्टेंट की कैटगरी तय करने वाली हमारी प्रोसेस लगातार काम करती रहती है. इससे, हाल ही में लॉन्च की गई साइटों और मौजूदा साइटों पर नज़र रखी जा सकती है. जैसे-जैसे यह पता चलता है कि कम उपयोगी कॉन्टेंट लंबे समय से नहीं दिखा है, तो कॉन्टेंट की कैटगरी तय करने वाली प्रोसेस लागू नहीं की जाएगी.

समय-समय पर, हम कम मददगार कॉन्टेंट की पहचान करने के तरीके में सुधार करते रहते हैं. जब हम अहम सुधार करते हैं, तो हम Google Search की रैकिंग से जुड़े अपडेट वाले पेज में, इसकी जानकारी "मददगार कॉन्टेंट से जुड़ा अपडेट" के तौर पर शेयर करते हैं. ऐसे किसी अपडेट को लॉन्च करने के बाद, अगर सुधार गए सिस्टम को ऐसा कॉन्टेंट दिखता है जिसमें सुधार किया गया है, तो हमारे पिछले सिस्टम से तय की गई कम मददगार कॉन्टेंट की कैटगरी उस पर लागू नहीं होती.