ब्लॉगर

अगर आपके पास वेबसाइट है, लेकिन ब्लॉग नहीं है, तो एक ब्लॉग बनाएं: अपने जैसे लोगों से जुड़ने और अपनी साइट या प्रॉडक्ट का प्रचार करने के लिए, यह एक बेहतरीन तरीका है. ब्लॉग बनाना और उन्हें अपडेट करना बहुत आसान है. अगर आप ब्लॉग में बढ़िया, काम का, और खुद का बनाया कॉन्टेंट शामिल करते हैं, तो इससे पाठकों का ध्यान खींचने में मदद मिलती है. यहां कुछ सलाहें दी गई हैं, जिन्हें अपनाकर आप ब्लॉग से ज़्यादा से ज़्यादा फ़ायदा पा सकते हैं.

बेहतरीन कॉन्टेंट बनाना

  • बढ़िया लिखें और समय-समय पर लिखते रहें. समय-समय पर अपडेट होने वाली साइट पर, लोग तब तक बार-बार आते हैं, जब तक उसका कॉन्टेंट काम का और दिलचस्प बना रहता है. हफ़्ते में काम की एक पोस्ट, रोज़ प्रकाशित होने वाले मामूली कॉन्टेंट से कहीं बेहतर होती है. अपने फ़ील्ड से जुड़ी पसंदीदा चीज़ों को Google पर खोजना बेहतर रहता है. अगर आपको कोई बढ़िया जानकारी नहीं मिलती है, तो उस विषय पर एक ब्लॉग पोस्ट बनाएं - हो सकता है कि दूसरे लोग इसी तरह की जानकारी खोज रहे हों.
  • वेबमास्टर गाइडलाइन का पालन करें. पक्का करें कि किसी दूसरी साइट की तरह ही आप भी बढ़िया और काम का कॉन्टेंट बनाने के लिए, हमारी वेबमास्टर गाइडलाइन का पालन करते हों. इसी तरह, अपने ब्लॉग में इमेज और दूसरा रिच मीडिया इस्तेमाल करने के लिए, हमारे सुझाव देखें.
  • पोस्ट की कैटगरी तय करें. लेबल और टैग की मदद से, कॉन्टेंट को अच्छे से व्यवस्थित रखा जा सकता है. इनसे, उपयोगकर्ताओं को ब्लॉग ब्राउज़ करने में आसानी होती है.
  • पक्का करें कि उपयोगकर्ता (और क्रॉलर) आपका ब्लॉग आसानी से ढूंढ सकें. हमारा सुझाव है कि अपने ब्लॉग को अपनी साइट के होमपेज और दूसरे खास पेजों से लिंक करें. ब्लॉग को अपनी सामान्य साइट (http://blog.example.com या www.example.com/blog) पर होस्ट करें.
  • ज़रूरी होने पर, स्पैम टिप्पणी पर रोक लगाएं. ब्लॉग पर टिप्पणी करने की सुविधा चालू करके, कम्यूनिटी और बातचीत का माहौल बनाने में मदद मिल सकती है. हालांकि, स्पैम करने वाले कुछ लोग, टिप्पणी करने की सुविधा का गलत इस्तेमाल करके, साइट को स्पैम से भर देते हैं. अगर आपके साथ ऐसा होता है, तो स्पैम टिप्पणी कम करने के दिशा-निर्देश देखें.
  • सहयोगी (अफ़िलिएट) साइटों के लिए हमारी सलाह जानें. Google सुझाव देता है कि सभी साइटों के मालिक ऐसी वेबसाइटें बनाएं जिनका मौलिक कॉन्टेंट उपयोगकर्ताओं के लिए फ़ायदेमंद हो. यह खास तौर पर उन साइटों के लिए ज़रूरी है जो अफ़िलिएट प्रोग्राम में हिस्सा लेती हैं. अगर आप किसी अफ़िलिएट प्रोग्राम में हिस्सा लेते हैं, तो ऐसे बहुत से तरीके हैं जिनसे आप अपनी साइट को बिल्कुल खास और दूसरी साइटों से अलग दिखा सकते हैं. अफ़िलिएट प्रोग्राम के बारे में ज़्यादा जानकारी.

पक्का करना कि उपयोगकर्ता और क्रॉलर आपका कॉन्टेंट ढूंढ सकें

  • अपनी हर पोस्ट के लिए ज़्यादा जानकारी देने वाला शीर्षक बनाएं. इससे उपयोगकर्ताओं को बेहतर अनुभव मिलता है. इसके अलावा, हर पोस्ट का यूनीक यूआरएल बनाने के लिए, अक्सर उसके शीर्षक का इस्तेमाल किया जाता है. इससे, सर्च इंजन को आपके पेज के कॉन्टेंट की अहम जानकारी मिल सकती है.
  • अपनी ऑनलाइन कम्यूनिटी से जुड़ें. यह बात तो तकरीबन तय है कि ब्लॉगर का एक बहुत बड़ा नेटवर्क मौजूद है, जो आपकी साइट के कॉन्टेंट के बारे में बात करता है. इन ब्लॉग पर जाएं, पोस्ट पर कमेंट करें, और बातचीत में हिस्सा लें. खास तौर पर, अपने कॉन्टेंट से जुड़े वेब फ़ोरम पर अपनी बात कहकर अपना योगदान दें. अहम बात यह है कि कोई बढ़िया और काम की बात सामने आए: सोचने पर मजबूर करने वाली टिप्पणियों में दी गई काम की जानकारी देखने पर, लोग ज़्यादा आसानी से आपकी साइट पर आते हैं.
  • अपने कॉन्टेंट का कोई फ़ीड प्रकाशित करें. हमारा सुझाव है कि आप अपने कॉन्टेंट के फ़ीड प्रकाशित करें. साथ ही, इस बात की अनुमति दें कि ब्लॉग अपडेट किए जाने की सूचना उपयोगकर्ताओं को मिले. आम तौर पर ऐसा, ब्लॉग बनाने में मदद करने वाले सॉफ़्टवेयर की सेटिंग में जाकर किया जा सकता है. ज़्यादातर सेवाओं में आपको पूरा फ़ीड (उपयोगकर्ता आपके लेख का पूरा कॉन्टेंट अपने आरएसएस रीडर में पढ़ सकते हैं) या फ़ीड के किसी हिस्से (उपयोगकर्ताओं को अपने रीडर में बस एक टीज़र पैराग्राफ़ दिखता है, लेकिन पूरा लेख पढ़ने के लिए उन्हें आपकी साइट पर जाना पड़ता है) को प्रकाशित करने का विकल्प मिलता है. बढ़िया और पूरे कॉन्टेंट वाले फ़ीड से उपयोगकर्ताओं को खुशी मिलती है, क्योंकि वे आपके कॉन्टेंट को आसानी से देख सकते हैं. इन फ़ीड की वजह से, आपके असल ब्लॉग पर आने वालों की संख्या, कुछ समय के लिए कम हो सकती है. हालांकि, लंबे समय में ये काफ़ी फ़ायदेमंद साबित हो सकते हैं. धीरे-धीरे आपकी साइट पर पाठकों की संख्या बढ़ती है. साथ ही, विषय पर लोग अपनी राय रखते हैं.और एक-दूसरे से बातचीत करते हैं. आखिर में, याद रखें कि आपकी साइट पर कभी-कभी आने वाले व्यक्ति से ज़्यादा अहम, आपका नियमित सदस्य होता है.

आपका ब्लॉग और Search Console

  • अपना ब्लॉग, अपने Search Console खाते से जोड़ें. अपने खाते में ब्लॉग जोड़ना आसान है: बस नियमित साइट को जोड़ने के निर्देशों का पालन करें. अगर आप Blogger इस्तेमाल करते हैं, तो आप इसके डैशबोर्ड पर टूल और रिसॉर्स में जाकर, Search Console पर क्लिक करके, अपनी साइटों को अपने खाते से जोड़ सकते हैं.
  • अपने ब्लॉग की पुष्टि करें. अपनी साइट के सभी आंकड़ों और इससे जुड़ी गड़बड़ियों की जानकारी देखने के लिए, अपने मालिकाना हक की पुष्टि करें. हमने जो फ़ाइल नाम बताया है उसकी एचटीएमएल फ़ाइल अपलोड करके, आप अपनी साइट की पुष्टि कर सकते हैं. इसके अलावा, आप अपने ब्लॉग के टेंप्लेट में मेटा टैग जोड़कर भी पुष्टि कर सकते हैं.
  • साइटमैप सबमिट करें. साइटमैप एक बेहतरीन तरीका है, जिसकी मदद से Google को आपकी साइट के ऐसे कॉन्टेंट की जानकारी मिलती है जिसे हम आम तौर पर खोज नहीं पाते. Google, साइटमैप प्रोटोकॉल के मुताबिक बने साइटमैप को प्राथमिकता देता है; हालांकि, हम कई अलग-अलग फ़ॉर्मैट भी स्वीकार करते हैं. अगर आप अपनी साइट का आरएसएस या ऐटम फ़ीड प्रकाशित करते हैं, तो साइटमैप के तौर पर फ़ीड का यूआरएल सबमिट किया जा सकता है.