खोज के नतीजों में अपने स्निपेट कंट्रोल करना

स्निपेट, Google Search और दूसरी प्रॉपर्टी (जैसे कि Google News) पर खोज के नतीजे का ब्यौरा या खास जानकारी वाला हिस्सा होता है. Google, सही स्निपेट की पहचान अपने-आप करने के लिए कई सोर्स का इस्तेमाल करता है. इनमें, हर पेज के, मुख्य जानकारी वाले टैग में दी गई ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी शामिल है. इसके लिए, हम पेज पर मिली जानकारी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं या पेज के मार्कअप और कॉन्टेंट के हिसाब से ज़्यादा बेहतर नतीजे (रिच रिज़ल्ट) तैयार कर सकते हैं.

Google Search पर, वेब नतीजे में दिखने वाला एक स्निपेट

हालांकि, हम हर साइट के लिए स्निपेट को मैन्युअल तरीके से नहीं बदल सकते हैं, फिर भी हम उन्हें साइट के लिए जितना हो सके उतना कारगर बनाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं. यहां बताए गए मुख्य जानकारी देने वाले अच्छी क्वालिटी के टैग तैयार करने के सबसे सही तरीके अपनाकर, अपने पेज के लिए दिखने वाले स्निपेट की क्वालिटी को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें

स्निपेट कैसे बनाए जाते हैं

स्निपेट, पेज पर मौजूद कॉन्टेंट से अपने-आप बनते हैं. स्निपेट, उस पेज के कॉन्टेंट की अहमियत बताने और उसकी झलक दिखाने के लिए तैयार किए जाते हैं जो उपयोगकर्ता की किसी खास खोज से अच्छी तरह मेल खाता है. इसका मतलब है कि Google Search में अलग-अलग खोजों के लिए, अलग-अलग स्निपेट दिख सकते हैं.

साइट के मालिक दो तरीकों से सुझाव दे सकते हैं कि स्निपेट बनाने के लिए हम किस तरह का कॉन्टेंट इस्तेमाल करें:

स्निपेट दिखने से रोकने या स्निपेट की लंबाई में बदलाव करने का तरीका

अपनी साइट के लिए स्निपेट बनाए जाने और खोज के नतीजों में इन्हें दिखने से रोका जा सकता है. इसके अलावा, Google को यह बताया जा सकता है कि आपके स्निपेट ज़्यादा से ज़्यादा कितने लंबे होने चाहिए. Google को खोज के नतीजों में अपने पेज के लिए स्निपेट दिखाने से रोकने के लिए, nosnippet मेटा टैग का इस्तेमाल करें. अपने स्निपेट की ज़्यादा से ज़्यादा लंबाई तय करने के लिए, max-snippet:[number] मेटा टैग का इस्तेमाल करें. पेज के कुछ हिस्सों को भी स्निपेट में दिखाए जाने से रोका जा सकता है. इसके लिए, data-nosnippet एट्रिब्यूट का इस्तेमाल करें.

मुख्य जानकारी देने वाले अच्छी क्वालिटी के टैग तैयार करने के सबसे सही तरीके

Google कभी-कभी खोज के नतीजों में दिखने वाले स्निपेट जनरेट करने के लिए, किसी पेज के <meta name="description"> टैग का इस्तेमाल करता है. ऐसा तब किया जाता है, जब हमें लगता है कि यह टैग, पेज पर मौजूद कॉन्टेंट के मुकाबले उपयोगकर्ताओं को ज़्यादा सटीक जानकारी देता है. आम तौर पर मुख्य जानकारी वाला टैग, उपयोगकर्ताओं को यह बताता है कि पेज किस बारे में है. साथ ही, टैग में पेज के बारे में छोटी और काम की जानकारी शामिल करके, उपयोगकर्ताओं की पेज में दिलचस्पी जगाने का काम करता है. जिस तरह से कोई विज्ञापन किसी प्रॉडक्ट के बारे में बताता है, उसी तरह से मुख्य जानकारी वाले टैग, उपयोगकर्ता को भरोसा दिलाते हैं कि यह वही पेज है जिसकी उन्हें तलाश है. हालांकि, मुख्य जानकारी की लंबाई को लेकर कोई सीमा तय नहीं है. इसके बावजूद, Google Search के नतीजों में दिखने वाले स्निपेट की लंबाई कम की जा सकती है, ताकि वे डिवाइस की चौड़ाई के हिसाब से फ़िट हो सकें.

  • पक्का कर लें कि आपकी साइट के हर पेज पर उसकी मुख्य जानकारी मौजूद हो.
  • अपनी साइट के हर पेज के लिए, अलग मुख्य जानकारी दें. अगर आपने पेज इस तरह डिज़ाइन किए हैं कि वे खोज के नतीजों में अलग-अलग दिखें, तो हर पेज पर एक ही या मिलती-जुलती मुख्य जानकारी देना ठीक नहीं होता है. जहां भी मुमकिन हो, ऐसी मुख्य जानकारी दें जो उस पेज के बारे में अच्छी तरह बता सके. साइट के होम पेज या दूसरे एग्रीगेट पेजों के लिए, पूरी साइट से जुड़ी मुख्य जानकारी का इस्तेमाल करें. अन्य सभी जगहों के लिए, खास पेजों से जुड़ी मुख्य जानकारी का इस्तेमाल करें. अगर आपके पास हर पेज के लिए मुख्य जानकारी जोड़ने का समय नहीं है, तो यह तय करें कि कौनसे पेज ज़्यादा ज़रूरी हैं. कम से कम, होम पेज और लोकप्रिय पेजों जैसे अहम पेजों के यूआरएल के लिए मुख्य जानकारी ज़रूर जोड़ें.
  • कॉन्टेंट से जुड़ी काम की जानकारी को मुख्य जानकारी में शामिल करें. मुख्य जानकारी में आपको पूरे वाक्य लिखने की ज़रूरत नहीं होती है. इसमें पेज से जुड़ी जानकारी भी शामिल की जा सकती है. उदाहरण के लिए, समाचार या ब्लॉग पोस्ट में लेखक का नाम, प्रकाशन की तारीख या लेखक से जुड़ी अन्य जानकारी शामिल हो सकती है. इससे वेबसाइट पर आने वाले लोगों को उनके काम की वह जानकारी मिल पाएगी जो शायद स्निपेट में नहीं दिखे. इसी तरह, प्रॉडक्ट से जुड़े पेजों में कीमत, उम्र, और प्रॉडक्ट बनाने वाले की जानकारी शामिल हो सकती है. यह जानकारी, पेज पर कहीं भी मौजूद हो सकती है. अच्छी तरह तैयार की गई मुख्य जानकारी में इस तरह का सारा डेटा एक साथ शामिल किया जा सकता है. उदाहरण के लिए, यह मुख्य जानकारी एक किताब के बारे में अच्छी तरह बताती है.
    <meta name="description" content="Written by A.N. Author,
    Illustrated by V. Gogh, Price: $17.99,
    Length: 784 pages">

    इस उदाहरण में, जानकारी को अच्छी तरह टैग किया गया है और एक-दूसरे से अलग करके डाला गया है.

  • किसी प्रोग्राम का इस्तेमाल करके तैयार की गई मुख्य जानकारी. समाचार मीडिया सोर्स जैसी कुछ साइटों के लिए, हर पेज की सही और अलग मुख्य जानकारी बनाना आसान होता है. ऐसी साइटों के लिए, हर लेख मैन्युअल तरीके से लिखा जाता है, इसलिए एक वाक्य की मुख्य जानकारी जोड़ने में ज़्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती. जिन वेबसाइटों का डेटाबेस बहुत बड़ा होता है उनके लिए मैन्युअल तरीके से मुख्य जानकारी लिखना मुश्किल होता है, जैसे कि प्रॉडक्ट से जुड़ी जानकारी देने वाली साइटें. ऐसे मामलों में, किसी प्रोग्राम का इस्तेमाल करके मुख्य जानकारी तैयार करना सही होता है और हम ऐसा करने का सुझाव भी देते हैं. लोग अच्छी मुख्य जानकारी को आसानी से पढ़ और समझ पाते हैं. पेज से जुड़े डेटा के लिए प्रोग्राम की मदद से मुख्य जानकारी बनाना सही रहता है. ध्यान रखें कि लंबे कीवर्ड से बनी मुख्य जानकारी से उपयोगकर्ता, पेज पर मौजूद कॉन्टेंट को अच्छी तरह से नहीं समझ पाते हैं. साथ ही, हो सकता है कि यह आम तौर पर दिखने वाले स्निपेट की जगह पर न दिखे.
  • अच्छी क्वालिटी वाली मुख्य जानकारी का इस्तेमाल करें. आखिर में, इस बात का ध्यान रखें कि आपकी जोड़ी गई मुख्य जानकारी में ज़्यादा से ज़्यादा चीज़ें शामिल हों. उपयोगकर्ता जिन पेजों को देखता है उन पर मुख्य जानकारी नहीं दिखती है. इसलिए, आपको लग सकता है कि यह जानकारी देना उतना फ़ायदेमंद नहीं है. अच्छी क्वालिटी वाली मुख्य जानकारी, Google के खोज नतीजों में दिख सकती है. इससे, आपकी साइट पर आने वाले ऐसे लोगों की संख्या बढ़ सकती है जिन्हें ध्यान में रखकर आपने कॉन्टेंट तैयार किया था.