Google Images में इमेज से जुड़े अधिकारों का मेटाडेटा

फ़ोटोग्राफ़र, फ़ोटो एजेंसियां, और मिलते-जुलते अन्य उद्योग, इमेज के मेटाडेटा में इमेज से जुड़ी जानकारी देते हैं. जब भी IPTC मेटाडेटा उपलब्ध होता है, Google Images उसे खोज के नतीजों में दिखाता है.

मोबाइल डिवाइस पर इमेज से जुड़े अधिकारों का मेटाडेटा

इमेज से जुड़े अधिकारों का मेटाडेटा जोड़ना

  • इमेज के कॉपीराइट की जानकारी मैनेज करने के लिए, Google IPTC मेटाडेटा फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल करता है.
  • आप मेटाडेटा को या तो सीधे इमेज में जोड़ सकते हैं या इसे एक अलग फ़ाइल में जोड़ सकते हैं. ऐसी फ़ाइल को साइडकार फ़ाइल कहा जाता है. Google, मेटाडेटा को इमेज में जोड़ने का सुझाव देता है, क्योंकि इससे मेटाडेटा को खोने से बचाया जा सकता है.
  • जब भी मुमकिन हो, सही जानकारी देने के लिए IPTC फ़ील्ड, क्रिएटर, क्रेडिट लाइन, और कॉपीराइट की सूचना के बारे में बताएं.

हम इमेज का मेटाडेटा मैनेज करने के लिए, मेटाडेटा मैनेजमेंट सॉफ़्टवेयर इस्तेमाल करने का सुझाव देते हैं.

जब इमेज में उनसे जुड़े अधिकारों का मेटाडेटा जोड़ दिया जाता है, तो Google उन्हें क्रॉल करता है. इसके बाद, हो सकता है कि Google Images, खोज के नतीजों में IPTC मेटाडेटा दिखाए.

क्या इमेज का मेटाडेटा हटाना ठीक होगा?

इमेज के मेटाडेटा को हटाने से, इमेज फ़ाइल का साइज़ कम हो सकता है. ऐसा करने से, वेबपेज तेज़ी से लोड हो पाते हैं. हालांकि, ऐसा करते समय आपको सावधान रहना चाहिए, क्योंकि कुछ अधिकार क्षेत्रों में मेटाडेटा को हटाना गैरकानूनी हो सकता है. इमेज के मेटाडेटा का इस्तेमाल, इमेज के कॉपीराइट और लाइसेंस से जुड़ी जानकारी को ऑनलाइन दिखाने के लिए किया जाता है. Google का सुझाव है कि आप हर हाल में, इमेज से जुड़े अधिकारों की जानकारी और इमेज की पहचान से जुड़ा अहम मेटाडेटा अपने पास रखें. उदाहरण के लिए, जब भी मुमकिन हो सही जानकारी देने के लिए IPTC फ़ील्ड, क्रिएटर, क्रेडिट लाइन, और कॉपीराइट की सूचना के बारे में बताएं.